Site Feedback

मैं दीपक को यह पत्र लिखूँगा

प्रिय दीपक,

मैं आशा करता हूँ कि तुम और तुमहारा परिवार सब ठीक हैं। मुझे यहाँ वाशिंगटन विश्वविद्यालय में बहुत मज़ा आ रहा है। मैं कल ही गिग हार्बर नाम का शहर से लौट आया। बहाँ सीएटल से सिर्फ़ एक घंटा है, और मैं बहाँ अपनी परिवार को देखने के लिये गया। मैं विद्यालय के नौ दूसरे लोग भी मेरे घर तक थैंक्सगिविंग के लिये माने, और हम टर्की, आलू, आदि खाए।

लेकिन अब मैं लौट आया और दूसरे दो हफ़्ते विश्वद्यालय में रहूँगा। मैं यहाँ सिर्फ़ रोचक क्लास कर रहा हूँ, सहित हिन्दी। मैं शरद सिमेस्टर का अंतिम हफ़्ता खत्म करके, अंतिम परीक्षे लेकर, फिर घर लौट जाकर वहाँ जनवरी तक christmas और नव वर्ष मानने के लिये रहूँगा। छुट्टी का समय, मँं यह भी आशा करता हूँ कि अपने उच्च विद्यालयके दोस्तों जो अमरीका दूर से आते मैं उन्हें देख सकूँगा।

नई दिल्ली में तुमहारा जीवन कैसा है? मैं भारत नहीं गया है, लेकिन मैं बहुत जाकर तुम, सीता और तुमहारा परिवार को देखना चाहता हूँ। मैं आशा करता हूँ कि तुमहारी पड़ाई ठीक हैं। शायद मैं यह गर्मियाँ भारत जाए! मुझे लिखने मत भूलो। मैं तुमहारा समाचार सब सुनना चाहता हुँ!

तुमहारा,
जैक

Share:

 

0 comments

    Please enter between 0 and 2000 characters.

     

    Corrections

     

    मैं दीपक को यह पत्र लिखूँगा

    प्रिय दीपक, 
     


    लेकिन अब मैं लौट आया हूँ और अगले दो हफ़्ते विश्वद्यालय में ही रहूँगा। मैं यहाँ हिन्दी के साथ एक रोचक क्लास कर रहा हूँ। मैं शरद सिमेस्टर का अंतिम हफ़्ता खत्म करके, अंतिम परीक्षे देकर, फिर घर लौट कर वहाँ जनवरी तक christmas और नव वर्ष मनाने के लिये रहूँगा। छुट्टी का समय, मँं यह भी आशा करता हूँ कि अपने उच्च विद्यालयके दोस्तों को जो दूर से अमरीका आते मैं उन्हें देख सकूँगा।

    नई दिल्ली में तुम्हारा जीवन कैसा है? मैं भारत नहीं गया हूँ, लेकिन मैं वहाँ जाकर तुम्हे, सीता और तुम्हारे परिवार को देखना चाहता हूँ। मैं आशा करता हूँ कि तुम्हारी पढाई ठीक हैं। शायद मैं इस गर्मीयों में भारत आउँ! मुझे पत्र लिखना  मत भूलो। मैं तुम्हारे सब  समाचार  सुनना चाहता हुँ!

    तुमहारा,
    जैक

     

    मैं दीपक को यह पत्र लिखूँगा

    प्रिय दीपक,

    मैं आशा करता हूँ कि तुम और तुमहारा परिवार सब ठीक होंगे.मुझे यहाँ वाशिंगटन विश्वविद्यालय में बहुत मज़ा आ रहा है। मैं कल ही गिग हार्बर नाम का शहर से लौट आया हूँ  यह सीएटल से सिर्फ़ एक घंटा है, और मैं बहाँ अपनी परिवार को देखने के लिये गया  था।   मेरे  विद्यालय के नौ दूसरे लोग भी मेरे घर तक थैंक्सगिविंग के लिये आएऔर हम ने टर्की, आलू, आदि खाए। 
     

     

     

    Write a correction

    Please enter between 25 and 8000 characters.

     

    More notebook entries written in Hindi

    Show More