Mukesh
Professional Teacher
“किसी को अपने सपने चुराने न दें"

“किसी को अपने सपने चुराने न दें. यह आपके अपने सपने हैं, न कि किसी ओर के.”

May 26, 2014 2:12 PM
Comments · 1

सपने कोई चुराता है तो चुराने दीजिये, सपनो का क्या है कल आँख बंद करेंगें तोह फिर आ जाऐंगे ।

May 26, 2014